Saturday, March 2nd, 2024

नौनिहालो के नेतृत्व में निकली शोभायात्रा

आष्टा नि.प्र. - हमारे बच्चे समाज और राष्ट्र का भविष्य हैं तथा उनमें अभी से सुसंस्कारो और अनुशासन का बीजारोपण अति आवश्यक है ताकि भविष्य में इसका अंकुरण होकर वट वृक्ष रूपी सुदृढ़ समाज और राष्ट्र का निर्माण हो सके। महावीर स्वामी जैन श्वेताम्बर मंदिर में चातुर्मास हेतु विराजित साध्वीवर्या शासनज्योति श्रीजी म.सा. एवं स्नेहज्योति श्रीजी म.सा. की उक्त कथनी को चरितार्थ करते हुये जैन श्वेताम्बर समाज द्वारा एक अनूठा प्रयोग करते हुये नगर में प्रथम बार नौनिहालो के नेतृत्व में भव्य शोभायात्रा निकाली गई। इसमें जैन श्वेताम्बर गंज मंदिर को पावापुरी तीर्थ का तथा किला मंदिर को गिरनार तीर्थ का स्वरूप प्रदान किया गया एवं इस शोभायात्रा को पैदल संघ का स्वरूप प्रदान किया गया जिसमें बैण्ड बाजो के साथ सिर पर पगड़ी सजायें समाज के 15 वर्ष से कम आयु के सभी बच्चे सबसे आगे चलकर पूरी शोभायात्रा का नेतृत्व कर रहे थे। बच्चो के उत्साहवर्धन के लिये नगर के प्र्रमुख चौराहो पर उनका पुष्पवर्षा के साथ माला पहनाकर स्वागत किया गया तथा उनपर मां सरस्वती की कृपा बनी रहे इसी भावना के साथ उन्हें उपहार के रूप में कलम भेंट की गई साथ ही मालव गिरनार तीर्थ किला मंदिर के सभागृह में उनका सम्मान समारोह भी आयोजित किया गया। जिसमें लाभार्थी धाड़ीवाल परिवार द्वारा बच्चो का सम्मान किया गया। अंत में आगमोद्धारक चातुर्मास समिति द्वारा इस सफल आयोजन के लिये सभी समाजजनो का आभार व्यक्त किया गया। 

Source : अतुल जैन सुराणा

आपकी राय

8 + 5 =

पाठको की राय