Wednesday, July 24th, 2024

सही मुद्रा में बैठने के फायदे: जानें कैसे करें स्वास्थ्य में सुधार

बैठने का सही तरीका

आजकल दर्द, अकड़न, मांसपेशी असंतुलन की समस्या बढ़ गई है। जिसके पीछे शरीर का गलत पोस्चर जिम्मेदार हो सकता है। लोगों ने बैठने का तरीका भी बदल दिया है। पहले के जमाने में लोग जमीन पर पालथी मारकर बैठते थे। यह पोस्चर सुधारने के साथ कई सारी बीमारियों से भी छुटकारा दिलाता है। आइए इसके फायदों के बारे में जानते हैं।

योगासन है पालथी मारकर बैठना

बैठने के जिस तरीके को पालथी मारना कहते हैं। दरअसल वो एक योगासन है। इसका नाम सुखासन है, जिसे पैर क्रॉस करके बैठना भी कहते हैं। यह गंदे कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर सकता है।

हाई कोलेस्ट्रॉल

​इंटरनेशनल जर्नल ऑफ ऑर्थोपेडिक साइंस पर छपे शोध में सुखासन का प्रभाव देखा। इसके मुताबिक सुखासन में मेडिटेशन करने से कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल करने में मदद मिलती है।

दिल की बीमारी

इस पोस्चर में बैठने से कार्डियो मेटाबॉलिक फंक्शन सुधरता है। यह ब्लड प्रेशर को मैनेज रखने में भी मदद करता है। जिससे आप दिल की बीमारियों से बचने लगते हैं।

बेली फैट

यह फायदा काफी दिलचस्प है। पालथी मारकर बैठकर अगर आप खाना खाते हैं तो यह आपके मेटाबॉलिज्म को बढ़ा सकता है। इससे फैट जल्दी बर्न होता है और मोटापा कम होता है।

टेंशन

टेंशन व स्ट्रेस कई सारी मेंटल प्रॉब्लम्स के लिए जिम्मेदार हैं। अगर आप सुखासन में बैठकर डीप ब्रीदिंग करते हैं तो दिमाग में ऑक्सीजन का लेवल आराम से सुधरता है। इससे ब्रेन फंक्शन को सुधारने में मदद मिलती है।

कमर दर्द

सुखासन से निचली कमर दर्द से बचा जा सकता है। यह पीठ और कमर की मसल्स को सपोर्ट देता है। इन्हें मजबूत बनाने में भी मदद करता है। शरीर में बेहतर ब्लड सर्कुलेशन होता है। जिससे मसल्स को पूरा पोषण मिलता है।

Source : Agency

आपकी राय

3 + 4 =

पाठको की राय