Wednesday, July 24th, 2024

असम में बाढ़ की समस्या के लिए 'डबल इंजन' भाजपा सरकार द्वारा पिछले आठ वर्षों में बहुत कम काम किया गया: गोगोई

असम
असम में बाढ़ के कहर के बीच कांग्रेस नेता गौरव गोगोई ने मंगलवार को कहा कि केंद्र और राज्य में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की ‘‘डबल इंजन'' की सरकारों ने इस चिरस्थायी समस्या का समाधान खोजने के लिए पिछले आठ वर्षों के दौरान बहुत कम काम किया। गोगोई ने केंद्रीय जल शक्ति मंत्री से स्थिति का आकलन करने के लिए राज्य का दौरा करने को भी कहा, क्योंकि उनके अनुसार, समस्या के दीर्घकालिक समाधान और महत्वपूर्ण वित्तीय निवेश की आवश्यकता है।

गोगोई ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स' पर पोस्ट किया, "बाढ़ और कटाव की प्रतिक्रिया के लिए दीर्घकालिक समाधान और महत्वपूर्ण वित्तीय निवेश की आवश्यकता है... दुर्भाग्य से, राज्य और केंद्र के स्तर पर 'डबल इंजन' भाजपा सरकार द्वारा पिछले आठ वर्षों में बहुत कम काम किया गया है।" उन्होंने कहा, "केंद्रीय जल आयोग ने लंबे समय से असम की अनदेखी की है। मैं जल शक्ति मंत्री से अनुरोध करता हूं कि वे इस कठिन समय में राज्य का दौरा करें।" असम में भाजपा 2016 में सत्ता में आयी थी।
 
गोगोई ने कहा कि लगातार बारिश ने असम में व्यापक तबाही मचायी है और अब तक 78 लोगों की जान जा चुकी है। उन्होंने कहा, "घर डूब गए हैं, जिससे परिवारों को मकान खाली कर विस्थापित होना पड़ रहा है। फसलों और पशुधन के नुकसान से खाद्य सुरक्षा और आजीविका को भी खतरा है।" गोगोई ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में उन्होंने स्थिति का जायजा लेने के लिए अपने संसदीय क्षेत्र जोरहाट और उसके आसपास के कई इलाकों का दौरा किया।

उन्होंने कहा, "जमीन पर स्थिति गंभीर बनी हुई है। व्यापक स्तर पर आने वाली इस आपदा पर तत्काल कार्रवाई और सहायता की आवश्यकता है।" असम में बाढ़ से 27 जिले प्रभावित हैं। ब्रह्मपुत्र सहित कई प्रमुख नदियां विभिन्न स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं, जबकि अलग-अलग स्थानों पर और बारिश होने का अनुमान है। 

Source : Agency

आपकी राय

7 + 7 =

पाठको की राय