Wednesday, April 17th, 2024

प्रदेश में पांच पर्वतीय जिलों में लगातार दूसरे दिन भी बर्फबारी का दौर जारी

हिमाचल प्रदेश के पांच जिलों में बर्फबारी, चार एनएच समेत 350 सड़कें अवरूद्व

 हिमाचल प्रदेश में मार्च महीने का आगाज मौसम के कड़े तेवरों से हुआ

प्रदेश में पांच पर्वतीय जिलों में लगातार दूसरे दिन भी बर्फबारी का दौर जारी

शिमला
 हिमाचल प्रदेश में मार्च महीने का आगाज मौसम के कड़े तेवरों से हुआ है। राज्य के पांच पर्वतीय जिलों में लगातार दूसरे दिन भी बर्फ गिरने का दौर जारी है। वहीं राजधानी शिमला सहित राज्य के मैदानी हिस्सों में व्यापक वर्षा हो रही है।

कई जगह अंधड़ भी चल रही है। खराब मौसम की वजह से लाहौल घाटी में हिमखंड गिरने का खतरा बढ़ गया है। ताजा बर्फबारी से जनजातीय जिलों में यातायात व्यवस्था, बिजली आपूर्ति और संचार व्यवस्था प्रभावित हुई है।

चार नेशनल हाईवे समेत 350 सड़कों पर वाहनों की आवाजाही ठप है। बर्फबारी व आंधी से 1314 ट्रांसफार्मरों के खराब होने से कई क्षेत्रों में बिजली गुल है। लाहौल स्पीति और कुल्लू व मनाली उपमंडल के सभी शिक्षण संस्थान बर्फबारी के कारण आज बंद रखे गए हैं। इस बारे में संबंधित एस.डी.एम. द्वारा आदेश जारी किए गए है। साथ में यह भी स्पष्ट किया गया है हिमाचल प्रदेश बोर्ड द्वारा ली जा रही परीक्षाएं पूर्व निर्धारित समय सारणी के अनुसार ही होगी।

राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र की रिपोर्ट के अनुसार किन्नौर, लाहौल स्पीति, कुल्लू, चंबा और शिमला जिला में बर्फ गिर रही है। लाहौल-स्पीति जिला के केलंग में डेढ़ फुट, उदयपुर में दो फुट से अधिक जबकि त्रिलोकनाथ में ढाई फुट जबकि ऊंचाई वाले क्षेत्रों में चार फीट तक बर्फबारी हुई है। किन्नौर जिला के छितकुल और आसरंग में दो फुट, कल्पा व सांगला में डेढ़ फुट, हिमपात हुआ है।

चम्बा जिला में भी बारिश और बर्फबारी का दौर जारी है इससे कई सड़क मार्ग अवरूद्ध हुए है। पांगी घाटी में एक फुट ताजा हिमपात हुआ है। कुल्लू जिला में भी ऊंची चोटियों पर हिमपात का क्रम जारी है और निचले इलाकों में बीती रात गरज के साथ बादल बरस रहे हैं। हालांकि किसान व बागवान इस बर्फबारी से काफी खुश है।

लाहौल-स्पीति जिला में 290, किन्नौर में 32, मंडी में 10 और कुल्लू में सात सड़कें बर्फबारी से बंद हैं। लाहौल-स्पीति और कुल्लू जिलों में दो-दो नेशनल हाइवे बर्फ गिरने से अवरुद्ध हैं। चंबा जिला में 337 बिजली ट्रांसफार्मर बंद पड़ गए हैं। इसके अलावा लाहौल-स्पीति में 314, मंडी में 284, किन्नौर में 218 और कुल्लू में 161 ट्रांसफार्मर ठप हैं।

राज्य का न्यूनतम तापमान गिरा, ठंड बढ़ी

प्रदेश में हो रही बारिश-बर्फबारी से समुचा प्रदेशा कड़ाके की ठंड की जद में आ गया है। मौसम दिसंबर महीने की तरह सर्द हो गया है और मैदानी इलाकों में लोगों को फिर से गर्म कपड़े निकालने पड़े हैं। पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य के औसतन न्यनूतम तापमान में 1.5 डिग्री की गिरावट आई है। किन्नौर के कल्पा और रिकांगपिओ में न्यूनतम तापमान क्रमशः -2.1 व -0.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इसी तरह लाहौल-स्पीति के केलांग में -1.7 डिग्री और शिमला जिला के नारकंडा में -1.2 डिग्री सेल्सियस रहा।

शिमला में न्यूनतम तापमान 5.5 डिग्री, सुंदरनगर में 9.5 डिग्री, भुंतर में 6.2 डिग्री, धर्मशाला में 11.1 डिग्री, उना में 11.4 डिग्री, नाहन में 11.3 डिग्री, पालमपुर में 9 डिग्री, सोलन में 9.4 डिग्री, मनाली में 0.5 डिग्री, कांगड़ा में 12.4 डिग्री, मंडी में 9.4 डिग्री, बिलासपुर में 13.1 डिग्री, चंबा में 10.4 डिग्री, डल्हौजी में 3.9 डिग्री, जुब्बड़हट्टी में 8.2 डिग्री, कुफरी में 3.5 डिग्री, कुकुमसेरी में 0.2 डिग्री, भरमौर में 1.9 डिग्री, सियोबाग में 4 डिग्री, पांवटा साहिब में 10 डिग्री, सराहन में 4.5 डिग्री, देहरा गोपीपुर में 10 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

छह मार्च तक खराब रहेगा मौसम

मौसम विभाग ने आज पूरा दिन प्रदेश के उच्च पर्वतीय व मध्यम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी व निचले क्षेत्रों में वर्षा का रेड अलर्ट जारी किया है। तीन मार्च को कुछ स्थानों पर आसमानी बिजली चमकने का यलो अलर्ट रहेगा। चार व पांच मार्च को भी मौसम खराब बना रहेगा, जबकि छह मार्च को अधंड़ व बिजली गिरने की चेतावनी दी गई है। सात मार्च तक पूरे प्रदेश में मौसम खराब रहेगा।

बर्फबारी-बारिश से उत्तराखंड को भिगोएगा बादल, मौसम विभाग ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट

देहरादून
अगले तीन दिन उत्तराखंड में पश्चिमी विक्षोप चलते भारी बारिश और हिमपात की संभावना है। आकाशीय बिजली के साथ भारी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने तीन मार्च को येलो अलर्ट तो दो मार्च को ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। ऐसे में मौसम विभाग ने लोगों को सावधानी बरतने के निर्देश दिए हैं।

मौसम विभाग के अनुसार राज्य में 40 से 50 किलोमीटर तेज गति से हवाओं के साथ आकाशीय बिजली भी गिर सकती है। चमोली, उत्तरकाशी, अल्मोड़ा, नैनीताल, चंपावत, बागेश्वर, हरिद्वार और उधम सिंह नगर के लोगों को सावधानी बरतने के निर्देश दिए हैं।

उत्तराखंड मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक डॉ. बिक्रम सिंह ने बताया कि राज्य में दो मार्च यानी आज पूरे दिन खूब बारिश होगी। साथ ही पांच जिलों में भारी से भारी बर्फबारी का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

मौसम विभाग ने दो मार्च को उत्तराखंड के उत्तरकारी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिले में 25 सौ मीटर से तीन हजार मीटर ऊंचाई वाले इलाकों में भारी बर्फबारी की संभावना जताई है। इसके अलावा समूचे राज्य में जमकर बारिश का पूर्वानुमान जारी किया है। साथ ही बिजली कड़कने और अंधड़ आने का भी पूर्वानुमान लगाया है। तीन मार्च को भी बारिश-बर्फबारी का पूर्वानुमान जारी किया है। तीन मार्च के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है।

 

 

रामबन में भूस्खलन, जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग को यातायात के लिए बंद किया गया

जम्मू
रात भर हुई बारिश के कारण जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर रामबन में भूस्खलन हुआ है। इसके चलते शनिवार को राजमार्ग यातायात के लिए बंद कर दिया गया। रामबन जिले के मेहद कैफेटेरिया में भूस्खलन के कारण राजमार्ग के साथ सटी पहाडियों से बड़ी मात्रा में पत्थर तथा मलबा मार्ग पर फैल गया है। इसके चलते राजमार्ग अवरुद्ध हो गया है। लगाातार हो रही बारिश के कारण मार्ग को साफ करने में बाधा आ रही है। यातायात अधिकारियों ने लोगों सलाह दी है कि वह यात्रा करने से पहले यातायात कंट्रोल रूम से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग की ताजा स्थिति की जानकारी प्राप्त करने के बाद ही अपनी यात्रा शुरू करें। इस बीच भारी बर्फबारी के कारण श्रीनगर-लेह, मुगल रोड, सिंथन-किश्तवाड़, बांदीपोरा-गुरेज और कुपवाड़ा-तंगधार सड़कें भी अवरुद्ध हो गई हैं।

 

 

 

Source : Agency

आपकी राय

1 + 8 =

पाठको की राय