Tuesday, July 16th, 2024

येदियुरप्पा से जुड़े मामले में अदालत ने कांग्रेस सरकार को करारा तमाचा लगाया: केंद्रीय मंत्री प्रलहाद जोशी

बेंगलुरु
केंद्रीय मंत्री प्रलहाद जोशी ने शनिवार को कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा से जुड़े मामले में अदालत ने कांग्रेस सरकार को करारा तमाचा लगाया है।हुबली में पत्रकारों से बात करते हुए मंत्री जोशी ने कहा, "अदालत का आदेश कांग्रेस सरकार पर करारा तमाचा है। पुलिस ने आम चुनाव से पहले नोटिस जारी किया था। लोकसभा चुनाव के बाद जब नई सरकार सत्ता में आई तो पुलिस ने जानबूझकर अदालत से गिरफ्तारी वारंट हासिल कर लिया। येदियुरप्पा हमारे वरिष्ठ नेता हैं। संसदीय समिति के सदस्य के तौर पर उनका दिल्ली में होना स्वाभाविक है। अदालत ने कहा कि उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी करना गलत था। इसके पीछे राज्य सरकार का हाथ है।"

जोशी ने कहा, "अब यह स्पष्ट हो गया है कि यह सब राहुल गांधी के दबाव के कारण हुआ। सीएम सिद्धारमैया ने वरिष्ठ नेता येदियुरप्पा को गिरफ्तार करने की तैयारी करके अपनी कुर्सी बचाने की कोशिश की। लेकिन, देश में न्यायपालिका अधिक शक्तिशाली है।" कर्नाटक पुलिस ने चार महीने पहले दर्ज पॉक्सो मामले में येदियुरप्पा के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट हासिल किया था। हाईकोर्ट ने पुलिस को उन्हें गिरफ्तार न करने और जांच जारी रखने का निर्देश दिया था। धारवाड़ में एक हिंदू कार्यकर्ता पर हमले पर प्रतिक्रिया देते हुए जोशी ने कहा, "जब से कर्नाटक में कांग्रेस सरकार बनी है, हिंदू कार्यकर्ताओं पर हमले हो रहे हैं। धारवाड़ में, स्वस्थ देशी नस्ल की गायों को अवैध रूप से ले जाया गया। सूचना देने पर हमला किया गया।"

"मुस्लिम कट्टरपंथियों को कोई डर नहीं है। मुख्यमंत्री सिद्धारमैया कर्नाटक में हिंदू विरोधी सरकार चला रहे हैं। जोशी ने चेतावनी दी कि अगर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो हम आंदोलन करेंगे।" एक प्रशंसक की हत्या के मामले में कन्नड़ सुपरस्टार दर्शन की गिरफ्तारी पर प्रतिक्रिया देते हुए जोशी ने कहा, "सभी अभिनेताओं को एक ही नजरिए से नहीं देखा जाना चाहिए, क्योंकि उनमें से एक ने ऐसी हरकत की हैं।"

दर्शन को किसानों का ब्रांड एंबेसडर बनाए जाने पर प्रतिक्रिया देते हुए जोशी ने कहा, "ऐसा करने से पहले सरकारों को पृष्ठभूमि की उचित जांच करानी चाहिए। भले ही नियुक्ति पिछली भाजपा सरकार के दौरान की गई हो, फिर भी यह गलत है। दर्शन को अपनी पत्नी पर हमला करने के आरोप में जेल भेजा गया था। उन्होंने कहा, हालांकि, कन्नड़ सुपरस्टार दिवंगत पुनीत राजकुमार को कई परियोजनाओं के लिए एंबेसडर बनाया गया था। दिवंगत अंबरीश और विष्णुवर्धन अच्छे अभिनेता थे। सभी को एक ही नजरिए से नहीं देखा जा सकता।" कांग्रेस सरकार ने शुक्रवार को गिरफ्तार सुपरस्टार दर्शन से किसान ब्रांड एंबेसडर की उपाधि वापस ले ली है।

Source : Agency

आपकी राय

11 + 8 =

पाठको की राय