Wednesday, April 17th, 2024

विभागीय निर्माण कार्यों और योजनाओं की बैठक में रखी गई जानकारी

अनूपपुर
जिला पंचायत सामान्य सभा की बैठक शुक्रवार को जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती प्रीति रमेश सिंह की अध्यक्षता में जिला पंचायत सभागार में आयोजित की गई।
    बैठक में जिला पंचायत की उपाध्यक्ष श्रीमती पार्वती राठौर, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी तन्मय वशिष्ठ शर्मा, जिला पंचायत के सदस्य भूपेन्द्र सिंह, नर्मदा सिंह, रामजी रिंकू मिश्रा, सुभारती केवट, श्रीमती यशोदा सिंह, श्रीमती भुवनेश्‍वरी सिंह, श्रीमती किरण देवी चर्मकार, दरोगा सिंह, रंजीत सर्राटी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।


    बैठक में जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती प्रीति रमेश सिंह, उपाध्यक्ष श्रीमती पार्वती राठौर, सदस्य श्रीमती भुवनेश्‍वरी सिंह, नर्मदा सिंह ने लोक निर्माण विभाग व जिला खनिज प्रतिष्ठान निधि अंतर्गत स्वीकृत निर्माण कार्यों की समीक्षा के दौरान कार्यों की अद्यतन स्थिति पर चर्चा करते हुए निर्माण कार्यों को गुणवत्ता के साथ समय पर पूर्ण कराने की बात कही। जिला पंचायत के पदाधिकारियों ने डीएमएफ अंतर्गत स्वीकृत विद्युतीकरण कार्य को जनहित में शीघ्र पूर्ण कराए जाने के संबंध में विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया। बैठक में जल जीवन मिशन के कार्यों की समीक्षा की गई। बताया गया कि जिले के 432 एकल ग्राम की स्वीकृति प्राप्त हुई है, जिनमें निविदा आमंत्रण कर 429 योजना स्वीकृत है। 3 ग्राम की योजना में सफल स्त्रोत नही मिलने से निविदा आमंत्रित नही की गई है। 59 ग्राम हर घर जल 74 अनुबंधित कार्य पूर्ण ग्राम हैं। बैठक में हैण्डपंप खनन एवं स्थापना, संधारण तथा नल-जल योजनाओं की जानकारी दी गई।      


    जिपं. सदस्य दरोगा सिंह ने चौरादादर में पेयजल उपलब्धता का आंकलन कराने के संबंध में बात रखी। जिला पंचायत सदस्य सुभारती केवट ने अपने क्षेत्र में नल-जल योजनाओं के क्रियान्वयन के संबंध में पीएचई के अधिकारियों को जानकारी दी। बैठक में ग्रामीण यांत्रिकी सेवा अंतर्गत संचालित कार्यों की समीक्षा के दौरान आजीविका भवन निर्माण, मुख्यमंत्री ग्राम सड़क, मनरेगा अंतर्गत संचालित कार्यों की जानकारी दी गई। ग्रेवल रोड निर्माण ग्राम मोहरी, खजुरवार व पड़रिया के कार्यों की जांच कराए जाने के संबंध में मांग रखी गई। बैठक में जल संसाधन विभाग अंतर्गत संचालित सिंचाई योजनाओं के कार्यों के संबंध में जानकारी सदन में रखी गई। जनजातीय कार्य विभाग के अंतर्गत आदिवासी एवं अनुसूचित जाति छात्रावास भवन निर्माण कार्य, उच्चतर माध्यमिक विद्यालय एवं अतिरिक्त कक्ष निर्माण कार्य, सीएम राईज नवीन भवन निर्माण कार्य तथा शासकीय कन्या षिक्षा परिसर नवीन भवन निर्माण कार्य की जानकारी दी गई।

जिला पंचायत सदस्य नर्मदा सिंह ने पुष्पराजगढ़ स्थित शासकीय कन्या छात्रावास की बाउण्ड्रीवाल से लगे स्थान पर तथा बेनीबारी बालक छात्रावास के सामने स्थित शराब दुकान को हटाए जाने की मांग रखी। जिला पंचायत सदस्य श्रीमती भुवनेश्‍वरी सिंह तथा नर्मदा सिंह ने निर्माण कार्यों की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने की बात कही। जिला पंचायत सदस्य श्रीमती भुवनेश्‍वरी सिंह ने सर्व शिक्षा अभियान के उपयंत्री सुभाष मिश्रा के द्वारा कराए जा रहे निर्माण कार्यों की गुणवत्ता की जांच कराए जाने संबंधी मांग रखी।

बैठक में जिला शिक्षा अधिकारी ने छात्रवृत्ति संबंधी तथा विद्यार्थियों के प्रोफाईल अपडेशन कार्य के संबंध में अवगत कराया। महिला बाल विकास के जिला कार्यक्रम अधिकारी ने विभाग अंतर्गत संचालित योजनाओं की जानकारी देते हुए वन स्टॉप सेन्टर, स्‍पांसरशिप योजना तथा पीएम केयर योजना के संबंध में सदन को जानकारी दी। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ए.के. अवधिया ने स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की जानकारी देते हुए बताया कि जिले के सभी 130 एच.डब्ल्यू.सी. में मॉडरेट एनीमिया आयरन शुक्रोज मरीजों को लगाए जाने के प्रबंधन की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आगामी 15 दिवस में पुष्पराजगढ़ सीएचसी में ब्ल्ड यूनिट प्रारंभ करने की कार्यवाही की जा रही है।

जिला पंचायत के सदस्य रामजी रिन्कू मिश्रा ने उरतान नार्थ कोल ब्लाक परियोजना के लिए प्रस्तावित सम्पूर्ण कुल भूमि अधिग्रहण किए बिना कम्पनी द्वारा कार्य प्रारंभ किए जाने पर कृषकों के लोकहित बाधित होने के संबंध में सदन का ध्यान आकृष्ट कराया गया। उन्होंने कहा कि उरतान नार्थ कोल ब्लाक परियोजना के संचालन से जहां कृषकों का लोकहित बाधित होगा। वहीं आसपास की भूमि के जल स्तर में गिरावट होगी। जिससे जन हित व कृषि कार्य बाधित होगा। साथ ही खनन कार्य के मुहाड़े से लगा जल संसाधन विभाग का गोहन्ड्रा जलाशय एवं लामाटोला जलाशय है, इनका जल स्त्रोत समाप्त हो जाएगा, जिससे इनके अस्तित्व को भी खतरा है। उन्होंने जनहित में उरतान नार्थ कोल ब्लाक परियोजना के मुहाड़े से लगी पीएमजीएसवाई सड़क में धूल, डस्ट व ब्लास्टिंग के कम्पन व माईनिंग परिवहन व मशीन आदि के कारण उक्त सड़क पर दुर्घटना की संभावना व्यक्त करते हुए सड़क के डायवर्सन (व्यपवर्तित) किए जाने की मांग रखी।

जिला पंचायत सदस्य रामजी रिन्कू मिश्रा ने जेएमएस कम्पनी द्वारा ग्राम ठोड़हा, बसखली, मौहरी में किए जा रहे अनाधिकृत निर्माण कार्य से शासकीय भवनों व निर्माण कार्यों को ध्वस्त कर उनके मूल स्वरूप को परिवर्तित किए जाने पर लोक हित को बाधित किए जाने पर आपत्ति जताई। उन्होंने उरतान नार्थ परियोजना के शासकीय भूमि आवंटन की जानकारी उपलब्ध कराने की बात भी सदन में रखी। उन्होंने वन सीमा से लगे हुए परियोजना क्षेत्र में वन्य प्राणियों के विचरण तथा पेड़-पौधों के भारी क्षति होने की संभावना व्यक्त की। बैठक में जिला पंचायत के सदस्य भूपेन्द्र सिंह तथा अन्य सदस्यों ने भी अपने क्षेत्र से संबंधित विभिन्न मुद्दों के संबंध में सदन का ध्यान आकृष्ट कराया। बैठक में मनरेगा योजनांतर्गत वित्तीय वर्ष 2024-25 के लेबर बजट पर चर्चा की गई। तत्पष्चात् अनुमोदन प्रदान किया गया। बैठक में मोजर बेयर के कारण उत्पन्न समस्याएं तथा जिला चिकित्सालय सहित अन्य जिले के स्वास्थ्य संस्थाओं में स्वास्थ्य सुविआओं के संबंध में चर्चा की गई। बैठक में 15 वें वित्त के वर्ष 2023-24 की राशि के संबंध में भी चर्चा कर निर्णय लिया गया।

Source : Agency

आपकी राय

11 + 12 =

पाठको की राय